योजना एवं वास्तुकला विद्यालय, भोपाल की स्थापना भारत सरकार द्वारा ‘राष्ट्रीय महत्व के संस्थान’ के रूप में सन् 2008 में की गई। योजना एवं वास्तुकला विद्यालय भोपाल को वर्ष 2014 में संसद द्वारा पारित अधिनियम द्वारा राष्ट्रीय महत्व का संस्थान घोषित किया गया है। संस्थान देश को ऐसे योजनाकार एवं वास्तुकार देने के लिए प्रतिबद्ध है जो वैष्विक मानकों के अनुरूप भौतिक एवं सामाजिक पर्यावरण के विकास की चुनौतियों का सामना कर सके। यह संस्थान ’सृजनात्मकता के संस्थान’ के रूप में विकसित होगा जहॉं विद्यार्थियों, अनुसंधानकर्ताओं, प्राध्यापकों एवं समाज में निरीक्षण की भावना प्रबल होगी। योजना एवं वास्तुकला विद्यालय, व्यापक अभिकल्पना के द्वारा सामाजिक समन्वय, संरक्षण के द्वारा सांस्कृतिक समन्वय एवं योजना एवं वास्तुकला शिक्षा के माध्यम से पर्यावरणीय समन्वय को बनाये रखने के लिए प्रयास करेगा।

School of Planning and Architecture (SPA) Act, 2014 STATUTES OF SPA Bhopal
Advertisement & Tender document for supply and installation of lab equipments for Environmental Monitoring and Assessment lab
Important Notice for Students
SPA, Bhopal - An Inclusive and Safe Teaching-Learning-Work Environment For All !
ID card Form
Bonafied Application Form
Office order about Re-Constitution of Anti Ragging Committee and Squad
Empalenment of Suppliers/ Vendors/ Service Providers

                      
 






Last reviewed and updated on 3 April, 2017 09.30 AM